• Website Designing course in Delhi

Web designing course basically means the creation of a website. A web designer is very attentive in creating a very attractive and fully functional website. Under this, you will learn about how to create a fast and responsive website.

Web Designing course

  • DURATION

    4 MONTHS

  • HOURS

    80 HOURS

  • LEVEL

    CERTIFICATE

  • CLASS

    REGULAR/ WEEKEND

What is Web designing Course ?

Web designing basically means the creation of a website. A web designer is very attentive in creating a very attractive and fully functional website. Under this, you are told about how to create a fast and responsive website.

 

वेब डिजाइनिंग में क्या है?

Web designing का मूलतः अर्थ वेबसाइट के निर्माण से ही है. एक web designer बहुत Attractive और fully functional website बनाने में निपुर्ण होता है. इसके अंतर्गत आपको fast और responsive website कैसे बनाये इस बारे में बताया जाता है.

 

Graphic Design – वैसे ग्राफिक डिज़ाइन एक अलग विषय है, परन्तु यह वेब डिजाइनिंग के अंतर्गत ही आता है. यह संदेशो के सवांद करने के लिए visual content बनाने का शिल्प है. Visual hierarchy और page layout technique को लागू करते हुवे web designer उपयोगकर्ता की विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए typography और चित्रों का उपयोग करते है साथ ही user experience को अनुकूलित करने के लिये interactive design में elements को प्रदर्शित करने के तर्क पर ध्यान केंद्रित करते है.

 

Page Structure तैयार करना – एक वेबसाइट के page structure को आप उसकी बुनियाद भी कह सकते है. एक web designer का अहम रोल site structure को बेहतर बनाना होता है. web designing के अंतर्गत वेबसाइट की पूरी संरचना को तैयार किया जाता है, यह काम HTML के इस्तेमाल से होता है.

 

Websites का design करना – किसी web page में text, colour, font style, column size, sidebar, layout design यह सब web designer द्वारा fix किये जाते है. इसमे Cascading style sheet (CSS) का इस्तेमाल होता है. इसको HTML document में embedded करके web-page के पूरे design में बदलाव किया जा सकता है.

 

Content Production – Article, eBook या Blogspot को लिखने या उसके निर्माण करने की प्रक्रिया को content production कहा जाता है. Content के बारे में research, analysis और उसको लिखने की strategy यह सब web designing का ही एक part है.

 

Site Maintenance करना – वेबसाइट के बेहतर काम करने के लिए उसकी maintenance बहुत जरूरी है. इसीलिए web designing के अंतर्गत site में होने वाली mistakes और issues को नियमित रूप से check किया जाता है और उसमें होने वाली गलतियों को सुधारा जाता है.

 

Web designer बनने के लिए Qualification

नए लोगो के मन मे यह सवाल अक्सर उठता है, की web designing में अपने career की शुरुवात करने के लिए हमारी qualification क्या होनी चाहिए. शुरुवात करने के लिए आप 10 या 10+2 pass करने के बाद इसमे जा सकते है. अगर आप graduate है, तो आपकी degree भी आपके काम आ सकती है. इसके लिए आप अतिरिक्त diploma course या Computer science में degree भी ले सकते है.

Web designer बनने के लिए आपको HTML, CSS, JavaScript जैसी language के बारे में जानने की भी आवश्यकता है. कई software के उपयोग के बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए. Coding और scripting में ज्ञान आपको इसके क्षेत्र में एक अच्छे भविष्य की बढ़त देता है. Computer और Internet के क्षेत्र में कुछ basic knowledge आपको और benefit दे सकते है.

 

वेब डिजाइनिंग के क्षेत्र में प्रमुख career option

Front end developer – इस क्षेत्र में इसे Client side development के रूप में भी जाना जाता है, एक वेबसाइट या एप्लिकेशन के लिए HTML, CSS और JavaScript के उत्पादन का अभ्यास है, ताकी एक उपयोगकर्ता सीधे उनके साथ देख और बातचीत कर सके.

Back end developer – इसे आप एक Programmer भी कह सकते है, इसका काम website, software या सूचना प्रणाली के back end और Core communication Logic बनाना होता है. यह ऐसे Developer component और सुविधाओं को बनाता है, जो अप्रत्क्षय रूप से front end application या system के माध्यम से उपयोगकर्ता द्वारा access किये जाते है.

UX Designer जो अध्यन और शोध पर ज्यादातर ध्यान केंद्रित करते है. इसके अंतर्गत यह देखा जाता है, कि लोग कैसे किसी वेबसाइट का उपयोग करते है.

Visual Designer व UI Designer जो किसी वेबसाइट के बनावट व सौंदर्य पर अधिक ध्यान देते है. इनका काम ज्यादातर designing का ही होता है.

इसके अलावा इसमे Graphic design, Logo design, Multimedia design जैसे कई और सुनहरे करियर विकल्प भी होते है. कुल मिलाकर अगर आपको इस क्षेत्र में अच्छा ज्ञान है, तो आपके लिए इसमे अपार सम्भावनाए है.

 

Web Designer Salary?

Web designing में आपकी सैलेरी कई चीजो पर तय होती है. अगर आपने किसी अच्छे institute से प्रशिक्षण लिया है, तो कोई भी Company आपको शुरुवात में अच्छी सैलेरी दे सकते है. आमतौर पर एक fresher के रूप में आपको Starting Salary 15000 से लेकर 30000 per month तक मिल जाती है. अब जैसे – जैसे इसमे आपका अनुभव बढ़ता जाता है. तो आप इसके base पर आपको Experience salary 60000 महीना तक कमा सकते है.

Course Content

How to Apply

  • Admission Form: form duly filled and signed ( available at admission Counter )
  • Qualification Proof: Self attested photocopy of last qualifying Mark Sheet
  • Photo: Two latest passport size color photographs
  • ID proof: Self attested photocopy of Photo ID proof.( Adhaar/ Passport any one)
  • Fee Submission: Fees can be paid through Cash or Online Transfer
  • EMIs: Fee can be paid in Monthly EMI

Why Choose Us

course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb
course thumb

Courses for Everyone